वित्तमंत्री बनी रहेंगी निर्मला सीतारमण, फोर्ब्स मैगजीन 2020 में दुनिया के 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं में नाम

    मोदी कैबिनेट 3.0 ( Modi Cabinet 3.0) में वित्त मंत्रालय (Finance Minister) की जिम्मेदारी निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) को मिली है. पिछली सरकार में भी ये कार्यभार इनके ही कंधों पर था.

    वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी एक बार फिर निर्मला सीतारमण को दी गई/ Social Media
    वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी एक बार फिर निर्मला सीतारमण को दी गई

    नई दिल्ली: मोदी कैबिनेट 3.0 (Modi Cabinet 3.0) में वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) की जिम्मेदारी निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) को दी गई है. पिछली बार भी ये बड़ा मंत्रालय इनके पास ही था. मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में जिन बड़े मंत्रालयों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया उसमें गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, सड़क एवं परिवहन मंत्रायल के साथ वित्त मंत्रालय का भी नाम शामिल है. निर्मला सीतारमण का नाम फोर्ब्स मैगजीन 2020 में दुनिया के 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में रखा गया था. 

    28वें वित्तमंत्री के रूप में ली शपथ 

    बता दें निर्मला सीतारमण ने देश की 28वें वित्त मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला है. जेएनयू से पढ़ी सीतारमण 2006 से भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी. 2010 में इनको बीजेपी का राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया. 2014 में इनको आंध्र प्रदेश के एक जूनियर मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया. 2019 में इन्होंने पहला बजट पेश किया. 2020 में फोर्ब्स मैगजीन 2020 में इनको दुनिया के 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची इनको 39वां स्थान मिला.

    लोकसभा चुनाव 2024 में बीजेपी को 240 सीट

    गौरतलब है कि 19 अप्रैल को शुरु हुए लोकसभा चुनाव 2024 के लिए सात चरणों में वोटिंग हुई. अंतिम फेज की वोटिंग 1 जून को हुई. देश के सभी 543 संसदीय सीटों के नतीजे एक साथ 4 जून को सामने आए. इसमें बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. पार्टी को 240 संसदीय सीटों पर जीत मिली है. वहीं एनडीए के साथ ये आंकड़ां 292 हो जाता है, जो कि स्पष्ट बहुमत के आंकड़ें 272 से ऊपर है. इसके बाद एनडीए दल की बैठक हुई. इसमें नरेंद्र मोदी को सत्ताधारी गठबंधन दल का नेता चुना गया और लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री चेहरे के लिए उनके नाम पर मुहर लगी. नरेंद्र मोदी ने 9 जून यानी रविवार को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की शपथ लिए. उनके साथ 70 और नेताओं ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

    234 सीटों पर सिमटा विपक्षी गठबंधन 

    दूसरी तरफ कांग्रेस देश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. कांग्रेस पार्टी को लोकसभा चुनाव में 99 संसदीय सीटों पर जीत मिली. अगर उनके एलायंस INDIA को मिला दिया जाए, तो ये आंकड़ां 234 हो जाता है, जो कि स्पष्ट बहुमत के आंकड़ें 272 से बहुत कम है.

    यह भी पढ़ें- रक्षा मंत्रालय के लिए एक बार फिर राजनाथ सिंह के नाम पर भरोसा, 6.21 लाख करोड़ रुपए बजट