ब्रेकअप से निपटने के लिए इस देश ने बनाया बजट, ऐसे करेगा टूटे दिल वालों की मदद, भारतीय मूल की महिला की पहल

    Budget for Breakup: न्यूजीलैंड में एक नई मुसीबत खड़ी हो गई है. वहीं बहुत कम उम्र के युवा ब्रेकअप के कारण डिप्रेशन में जा रहे हैं। हालत यह है कि रिलेशनशिप में रहने वाले 87 फीसदी युवा डिप्रेशन के शिकार हैं।

    ब्रेकअप से निपटने के लिए इस देश ने बनाया बजट, ऐसे करेगा टूटे दिल वालों की मदद, भारतीय मूल की महिला की पहल

    Breakup Budget: आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में प्यार भी इंस्टेंट हो गया है. ऐसे में जितनी तेजी से प्यार होता है उतनी ही तेजी से ब्रेकअप भी होने लगा है. लेकिन बढ़ते ब्रेकअप ने न्यूजीलैंड में एक नई मुसीबत खड़ी कर दी है. वहीं, कम उम्र के युवा डिप्रेशन में जा रहे हैं। हालत यह है कि रिलेशनशिप में रहने वाले 87 फीसदी युवा डिप्रेशन के शिकार हैं। समस्या की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ब्रेकअप से परेशान बाकी युवाओं के लिए न्यूजीलैंड सरकार को 53 करोड़ रुपए (6.2 मिलियन डॉलर) का बजट आवंटित करना पड़ा है। और उसके जरिए एक अभियान शुरू किया गया है, जो 16 से 24 साल के उन युवाओं को डिप्रेशन से बचाने में मदद करेगा। 

    एक भारतीय मूल की महिला की पहल

    न्यूजीलैंड की वेबसाइट NZP की रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2022 में कैंटर रिसर्च ग्रुप ने ब्रेकअप से परेशान युवाओं पर एक रिसर्च की थी। इसमें पाया गया कि 16 से 24 साल की उम्र के 80% युवा रिलेशनशिप में होते हैं और उनमें से 87% ऐसे होते हैं जो ब्रेकअप का शिकार हो जाते हैं। और इस वजह से वह डिप्रेशन में चले जाते हैं। डिप्रेशन में होने की वजह से वह स्वयं को हानि पहुँचाता है। जब यह रिपोर्ट सामने आई तो न्यूजीलैंड सरकार में भारतीय मूल की मंत्री प्रियंका राधाकृष्णन ने पूरे मामले को काफी गंभीरता से लिया। उनका मानना था कि युवाओं को इस तरह के ड्रिप्रेशन से गुजरना न्यूजीलैंड के लिए ही हानिकारक है। और फिर उनकी पहल के बाद लव बेटर कैंपेन शुरू किया गया।

     कैसे व्यक्त करें भावनात्मक प्यार

    इस अभियान के कई मकसद युवा पीढ़ी को डिप्रेशन में जाने से रोकना है। इसके लिए उनके साथ उचित सत्र आयोजित किए जा रहे हैं, ताकि वे ऐसी डिप्रेशन का सामना ना कर सकें और परिवार के जिम्मेदार सदस्य बन सकें। इसके अलावा अभियान का मकसद युवाओं को किसी भी तरह की घरेलू हिंसा में शामिल होने से रोकना है।