PM मोदी का विपक्ष पर हमला, बोले- ‘देश में बेईमानों को सजा और ईमानदारों को सम्मान, फिर वो क्यों हो रहे परेशान’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार 26 सितंबर को G-20 यूनिवर्सिटी कनेक्ट फिनाले कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत की रेंज का कोई मुकाबला नहीं है. आप किसी भी अवसर को मामूली मत समझिए. भारत की विविधता एवं लोकतंत्र ने G-20 को नई ऊंचाई पर पहुंचा दिया है. हमें G-20 शिखर सम्मेलन की सफलता पर आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि जब युवा किसी कार्यक्रम से जुड़ते हैं तो सफलता निश्चित होती है.

सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था भारत

पीएम मोदी ने कहा कि G-20 के आयोजन को भारत ने जिस ऊंचाई पर पहुंचा दिया है. उसे देखकर दुनिया वाले चकित है. लेकिन मैं बिल्कुल हैरान नहीं हूं. क्योंकि जिस कार्यक्रम को सफल बनाने का बीड़ा आप युवा उठा लेते हैं उनका सफल होना तय हो जाता है. हम दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था में से एक हैं. पूरी दुनिया को भारत पर भरोसा है और वे भारत में रिकॉर्ड स्तर पर निवेश कर रहे हैं. पूरे विश्व में हमारा निर्यात एवं आयात रिकॉर्ड बना रहा है. पिछले 5 साल में साढ़े 13 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर आए हैं.

PM मोदी ने बिना नाम लिए विपक्ष पर बोला हमला

वहीं दूसरी तरफ पीएम मोदी ने विपक्ष पर हमला करते हुए बिना नाम लिए कहा कि भ्रष्टाचार पर काबू करने के लिए हमने कई तरह के काम किए हैं. भ्रष्टाचार ने 2014 से पहले देश को बर्बाद कर रखा था. लेकिन मैं आज यह गर्व से कह सकता हूं कि बिचौलियों काम खत्म हो चुका है. उसे रोकने के लिए हमने नई टेक्नोलॉजी आधारित सिस्टम बनाए हैं. रिफॉर्म लाकर दलालों को सिस्टम से बाहर कर एक पारदर्शी व्यवस्था कायम की है.

देश में बेईमानों को सजा और ईमानदारों को सम्मान

पीएम मोदी ने कहा कि आज देश में बेईमानों को सजा और ईमानदारों को सम्मान दिया जा रहा है. मैं हैरान हूं कि मुझपर आरोप लगाते हैं कि मोदी लोगों को जेल में डाल रहे हैं. लेकिन उन्होंने देश का माल चोरी किया है तो उन्हें कहां रहना चाहिए. उन लोगों को ढूंढ-ढूंढ कर भेजना चाहिए कि नहीं चाहिए. जो काम आप चाहते हैं मैं वही कर रहा हूं. लेकिन इसे लेकर कुछ लोग बड़े परेशान हैं. पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 30 दिनों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, गरीबों, मध्यम वर्ग को सशक्त बनाने के लिए कई पहल की गईं.