एफसीआई इंस्पेक्टर का फोन डैम में गिरा तो ढूंढने के लिए 21 लाख लीटर पानी किया वेस्ट, जाने पूरा मामला

    छत्तीसगढ़ के कांकेर एरिया से हैरान करने वाली खबर आई है, जहां फूड सप्लाई विभाग के अफसर का एक लाख रुपए का फोन पंखाजुर में स्थित जलाशय में गिर गया. जिसे निकालने के लिए अफसर ने तीन दिन में करीब 21 लाख लीटर से ज्यादा बरबाद कर दिया. यह पानी इतना है कि करीब 1500 एकड़ से ज्यादा खेतों सी सिंचाई हो सकती थी. जब फोन नहीं मिला तो, गांव वालों को जलाशय में उतारा कर उसे ढ़ूडा गया. मिली जानकारी के अनुसार अफसर को सरकार ने सस्पेंड कर दिया है. 

    छुट्टी मनाने आए थे फूड सप्लाई विभाग का इंस्पेक्टर 

    मिली जानकारी के अनुसार कोयलीबेड़ा ब्लॉक के फूड सप्लाई विभाग में राजेश विश्वास बतौर इंस्पेक्टर तैनात है. वह सोमवार को छुट्टी काटने के लिए खेरकट्टा परलकोट के जलाशय के पास आए थे. इस दौरान उनका फोन जलायश में गिर गया था. 

    15 फीट तक भरा हुआ था पानी 

    मिली जानकारी के अनुसार जलाशय में करीब 15 फीट की ऊंचाई तक पानी भरा हुआ था. जिसे निकालने लगातार तीन दिनों से 30 एचपी का पंप चल रहा था. यह बात आसपास के गांव में फैली तो, किसी गांव वासी द्वारा शिकायत सिंचाई विभाग को दी गई. जिसके बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने पानी बंद करवाया. वहीं, जब तक अफसर पहुंचे तह करीब 7 फीट तक पानी निकाला जा चुका था. बता दें कि इस जलाशय में जानवार पानी पीने आते थे. 

    सेल्फी लेते वक्त गिरा था फोन 

    इस बारे में फूड सप्लाई विभाग के इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने कहा कि पहले गोताखोरों को फोन ढ़ूंडने के लिए उतारा गया था. एसडीओ से मामले में बात की गई तो, उन्हें कहा गया था कि ये पानी इस्तेमाल नहीं किया जाता. वहीं, इस मामले में संसाधन विभाग अधिकारी राम लाल ढिवर ने कहा कि पांच फीट तक के लिए इजाजत दी गई थी.