The JC Show: '4 जून को जो समीकरण बनेगा, उसके केंद्र में मोदी होंगे', जानिए पूरा चुनावी विश्लेषण

    लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Election 2024) के शुरुआती 6 फेज में 486 सीटों पर वोटिंग समाप्त हो गई है. भारत 24 के ‘सीईओ और एडिटर-इन-चीफ डॉ. जगदीश चंद्र’ ने ‘The JC Show’ कार्यक्रम में बोला कि 4 जून को जो समीकरण बनेगा, उसके केंद्र में PM Modi होंगे.

    The JC Show
    The JC Show

    नई दिल्ली: देशभर में लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Election 2024) का दौर चल रहा है. शुरुआती 6 चरणों में 486 संसदीय सीटों के लिए वोटिंग प्रकिया पूरी हो चुकी है. अब सिर्फ आखिरी फेज की वोटिंग बची है, जिसमें 57 संसदीय सीटों के लिए मतदान होना है. सभी राजनीतिक पार्टियों को 4 जून का इंतजार है, क्योंकि इसी दिन देश के सभी 543 लोकसभा सीटों के नतीजे आने वाले हैं. इसी मुद्दे पर भारत 24 के ‘सीईओ और एडिटर-इन-चीफ डॉ. जगदीश चंद्र’ से ‘The JC Show’ कार्यक्रम में खास बातचीत की गई. 

    सवाल- शो का नाम ‘4 जून की मृग मरीचिका ! X-Factor Modi’ के मायने क्या है? 

    देश ऐसे राजनीतिक मोड़ पर पहुंच चुकी है. जहां इस चुनाव का पूरा फोकस नरेंद्र मोदी हैं. शुरुआत भी उन्हीं से और अंत भी उन्हीं से, भाजपा भी वहीं हैं. मोदी भाजपा या फिर भाजपा मोदी कहना चाहिए. मोदी भाजपा के नए निर्माता हैं. इस बार का चुनाव मुद्दों पर नहीं बल्कि मोदी के समर्थन और विरोध पर लड़ा जा रहा है. 4 जून को जो भी समीकरण बनेंगे, उसके केंद्र बिंदु पर नरेंद्र मोदी बैठे होंगे. इस लिए इसका शीर्षक ये रखा गया है. 

    सवाल- कई राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इस बार का चुनाव ‘Modi vs Modi’ का है. इस बात के क्या मायने हैं?

    मोदी जब भी चुनाव लड़ते हैं, वो अपने पुराने रिकॉर्ड तोड़ते हैं. आगे बढ़ कर चैलेंज को स्वीकार्य करते हैं. इसलिए 400 का लक्ष्य रख दिया. तीसरे कार्यकाल में 400 का टारगेट रखने की क्या जरुरत थी. तीसरे कार्यकाल में 272 या फिर 275 का टारगेट होना चाहिए था, वो क्या कम बात थी. लेकिन उनको अपने रिकॉर्ड को तोड़ना है. नई ऊंचाइयों की छूना है, असंभव को संभव करना है और फिर कहना है ‘मोदी गारंटी’. इसी धुन में उन्होंने 400 का टारगेट रखा है. ये इनकी स्ट्रैटजी भी हो सकती है. रजत शर्मा ने इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी से 400 पार को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि ये विपक्ष को उलझाने के लिए 400 पार का लक्ष्य रखा था. वो मोदी हैं उनकी अपनी रणनीति है. ऐसे में कुल मिलाकर मोदी की लड़ाई हमेशा मोदी से होती है, वो अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ने की कोशिश करते हैं. इसलिए इस बार का चुनाव ‘Modi vs Modi’ का कहा जा रहा है. 

    सवाल- 2019 में मतगणना से पहले यानी 13 मई को आपने ‘फर्स्ट इंडिया अखबार’ में एक हेडलाइन दी थी कि मोदी को 303 सीटें मिलेंगी, जो कि एक भविष्यवाणी थी. इस बार आप क्या कहना चाहेंगे. 

    2019 में सरस्वती की बात थी, हमलोगों के मन में सरस्वती बैठ गई थी. 13 मई को लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने से 10 दिन पहले फर्स्ट इंडिया अखबार ने हेडलाइन लगाई ‘Modi 170 or 303’. ये सही निकला और चमत्कार हुआ. इस हेडिंग के कारण ‘फर्स्ट इंडिया अखबार’ को लेकर एक नया नैरेटिव बना.


    इस बार के आंकड़ें को लेकर हमने होमवर्क कर लिया है, लेकिन चुनाव आयोग की गाइडलाइन हैं इसलिए आंकड़ें को बता नहीं सकता. लेकिन ये बोल सकता हूं कि आएगा तो मोदी ही. यह हेडलाइन के लिए काफी है.

    यहां देखें पूरा कार्यक्रम- 4 जून की मृग मरीचिका! X-Factor Modi