Canada PM Justin Trudeau को लेकर की गई भविष्यवाणी क्या सच हो गई? अमेरिका की नामी हस्ती से जुड़ा है मामला

    Canada PM Justin Trudeau: एक-दूसरे के राजनयिकों को निकालने के ऐलान के बाद भारत और कनाडा के बीच रिश्तों में तल्खी और बढ़ गई है.

    Canada PM Justin Trudeau: एक-दूसरे के राजनयिकों को निकालने के ऐलान के बाद भारत और कनाडा के बीच रिश्तों में तल्खी और बढ़ गई है. इसके पीछे कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की जिद बताई जा रही है. वह बेहद बेबाक माने जाते हैं और विवादित भी. 

    उन्होंने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर भी भारत सरकार के रुख के विरुद्ध भी टिप्पणी की थी. इसकी भारत में कड़ी प्रतिक्रिया भी हुई थी. आइये जानते हैं जस्टिन ट्रूडो के बारे में, जो फिलहाल खूब चर्चा में हैं.

    रिचर्ड निक्सन ने की थी टूडो को लेकर भविष्यवाणी

    25 दिसंबर, 1971 को ओटावा में जन्मे टूडो का पूरा नाम जस्टिन पियरे जेम्स ट्रूडो है. पिता का नाम मार्गरेट सिंक्लेयर और मां का नाम पियरे इलियड है. जस्टिन ट्रूडो फ्रांसीसी कनाडाई और स्कॉटिश मूल के हैं.

    बावजूद इसके उनका परिवार पश्चिमी और पूर्वी कनाडा से ताल्लुक रखता है. यह कम हैरत की बात नहीं है कि जब जस्टिन सिर्फ 4 महीने के थे, तब तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने भविष्यवाणी की थी कि यह बच्चा एक दिन अपने पिता की राह पर चलेगा. 

    कनाडा के 23वें पीएम हैं जस्टिन ट्रूडो  

    बेहद आकर्षक पर्सनैलिटी के मालिक जस्टिन पियरे जेम्स ट्रूडो कनाडा के 23वें प्रधान मंत्री हैं. जस्टिन ट्रूडो की पत्नी का नीम सोफी ग्रेगोइरे है और उनके तीन बच्चे हैं. मिली जानकारी के अनुसार, ट्रूडो के सबसे छोटे भाई की वर्ष 1998 में ब्रिटिश कोलंबिया में हिमस्खलन में मृत्यु हो गई। इस दुर्घटना के बाद ट्रूडो ने हिमस्खलन सुरक्षा के प्रवक्ता बनने की ठानी.

    कई विषयों में किया है गहरा अध्ययन

    वह साहित्य के छात्र रहे और 1998 में उन्होंने ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय से शिक्षा विषय में ग्रेजुएशन किया. अध्ययन में गहरी रुचि रखने वाले जस्टिन ट्रूडो ने थिएटर की भी पढ़ाई की है। इसके अलावा, गणित, फ्रैंच और मानविकी विषयों में भी गहरा अध्ययन किया है.

    अल्पमत सरकार चला रहे हैं ट्रूडो

    2006 से वह राजनीति में सक्रिय हुए और वर्ष 2013 में लिबरल पार्टी का नेतृत्व किया. जस्टिन ट्रूडो ने 4 नवंबर, 2015 को कनाडा के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली. इसके बाद 21 अक्टूबर, 2019 में भी जीत हासिल की. जस्टिन ट्रूडो वर्ष 2021 के संसदीय चुनाव तो जीते लेकिन बहुमत नहीं मिला, तो वह अल्पमत वाली सरकार चला रहे हैं.

    ये विवाद जुड़े जस्टिन ट्रूडो से

    वर्ष 2016 में जस्टिन की कोहनी महिला सांसद की छाती में जा लगी थी, हालांकि उन्होंने तत्काल माफी भी मांगी थी. वर्ष 2018 जस्टिन ट्रूडो परिवार के साथ भारत आए थे. इस दौरान उन्होंने रंग-बिरंगे कपड़े पहने थे, जिस पर उनकी आलोचना हुई थी. इसके अलावा भी कई और विवाद जस्टिन से जुड़े हैं.